HomeJob Profile

Career as Goods Guard in Indian Railways रेलवे में गुड्स गार्ड कैसे बनें? Complete information

Career as Goods Guard in Indian Railways रेलवे में गुड्स गार्ड कैसे बनें? Complete information
Like Tweet Pin it Share Share Email

Goods Guard Job in Indian Railways | रेलवे में गुड्स गार्ड कैसे बनें? 

आजकल  अधिकतर लोग सरकारी नौकरी की ख्वाहिश रखते हैंIइस लिहाज से रेलवे छात्रों का पसंदीदा और अच्छी वेतन सुविधाएं प्रदान करने वाला क्षेत्र हैI एशिया का दूसरा और विश्व का चौथा सबसे बड़ा रेल नेटवर्क  भारतीय रेल हैIहमारे देश के लिए किसी एक विभाग में सर्वाधिक रोजगार देने वाले के रूप में इंडियन रेलवे को जाना जाता हैI रेलवे संपूर्ण भारत कि राज्यों को एक दूसरे से जोड़ने परिवहन क्षेत्र में अहम भूमिका निभाता हैI हमारे देश के मुख्य जीवन धारा में आर्थिक एवं सामाजिक रूप से रेलवे का योगदान अतुलनीय है यही कारण है कि समय-समय पर हमेशा  क्षेत्र में विस्तार किया जाता हैI जिसके लिए समय-समय पर भर्ती निकालती हैI वर्तमान में छोटे बड़े सभी पदों पर लगभग 16,00,000 से भी अधिक कर्मचारी विभिन्न शैक्षणिक स्तर के अनुसार अनेक पदों पर रेलवे में अपना योगदान दे रहे हैंIयदि आप भारतीय रेलवे में एक दान देने के लिए इच्छुक हैं तो आप भारतीय रेलवे द्वारा आयोजित की गई प्रतियोगिता से आपको बेहतरीन अवसर मिल सकता हैI  खास बात यह है कि इस क्षेत्र में इच्छुक उम्मीदवार दसवीं पास बाद ही नौकरी पा सकते हैंI रेलवे में कैटेगरीवाइज (A,B,C,D) के रूप में पदों को बांटा गया हैI जिनमें गुड गार्ड्स का पद ग्रुप सी के अंतर्गत आता है यह काफी प्रतिष्ठित और महत्वपूर्ण पद हैI गुड्स गार्ड्स को अनेक प्रकार के जवाबदेही देना होता हैI अगर आप विपरीत परिस्थितियों में भी बिना और साहस के साथ अपने काम को बखूबी अंजाम देने में सफल होते हैं तब गुड्स गार्ड की नौकरी के योग्य अपने आप को मान सकते हैंI

  • गुड्स गार्ड का कार्य-

भारतीय रेलवे की प्रबंध व्यवस्था में गुड्स गार्ड्स का भूमिका काफी अहम माना जाता हैIउसका कार्य  बेहद जिम्मेदारी वाला होता हैIतकनीकी रूप से देखा जाए तो गुड्स गार्ड किसी एक ट्रेन का इंचार्ज होता है और गाड़ी को संचालित करने में प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से स्टेशन मास्टर और अन्य सहायक कर्मचारियों  के साथ सामंजस्य स्थापित करता हैI किसी भी ट्रेन की डिपार्चर के लिए अनुमति के पुष्टि करना रेल का ड्राइवर को गुड्स गार्ड द्वारा ही सुनिश्चित की जाती हैIट्रेन कैसे सही ढंग से परिचालन की जिम्मेदारी गुड्स गार्ड् पर होती हैIट्रेन सही ढंग से अपने गंतव्य स्थान पर पहुंचाने की जिम्मेदारी,  प्रत्येक स्टेशन पर सिग्नल का बदलाव, गाड़ी का नियंत्रण, टाइमिंग नोट करना, डॉक्यूमेंट तैयार करना आपात परिस्थितियों से रेलगाड़ी का बचाव करना, पावर ब्रेक चेक करना,यात्रियों को हताहत होने से बचाना, किसी भी तरह के सामान का वैध  रूप से जांच कर ट्रेन में लोड करवाना, गुड्स गार्ड्स का स्थान किसी भी ट्रेन के पिछले बोगी में होता हैIगुड्स गार्ड का काम काफी चुनौतीपूर्ण होता है Iउन्हें किसी भी प्रतिकूल किसी मौसम में ठंडा हो या गर्मी अकेले सफर करना होता हैI उन्हें किसी फिक्स टाइम पर कार्य करना नहीं होता इसलिए हमेशा सक्रिय और तत्पर रहना पड़ता हैI अनेक विपरीत परिस्थितियों में धैर्य के साथ उतना ही लगन  और उत्साह के साथ गुड्स गार्ड को अपना काम करना होता हैI इसलिए यह एक प्रतिष्ठित पद के साथ चुनौतीपूर्ण जॉब के रूप में माना जाता हैI 

  •  शैक्षणिक योग्यता और आयु सीमा(Educational qualification & Age)-

भारतीय रेलवे द्वारा समय-समय पर गुड्स गार्ड भर्ती के लिए विवियन रेलवे रिक्रूटमेंट बोर्ड द्वारा विज्ञापन निकाली जाती है जिसकी भर्ती परीक्षा के आधार पर की जाती हैIआवेदन के लिए उम्मीदवार को मान्यता प्राप्त बोर्ड या किसी भी  शैक्षणिक संस्थान से किसी भी विषय एवं संकाय से ग्रेजुएट होना चाहिएI इसके अलावा डिप्लोमा एवं बीटेक की डिग्रीधारी वाले उम्मीदवार को भी स्नातक स्तर माना जाता है,जिसके आधार पर वह भी गुड्स गार्ड के परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैंIउम्मीदवार की न्यूनतम आयु 18 और अधिकतम आयु 33 वर्ष निर्धारित की गई है आरक्षित वर्ग के उम्मीदवारों को सरकारी नियमानुसार अधिकतम आयु सीमा में छूट  का भी प्रावधान हैI 

  • परीक्षा तथा सिलेबस(Examination & Syllabus)-

इसके अंतर्गत कंप्यूटर बेस्ड टेस्ट(CBT) आधारित वस्तुनिष्ठ प्रकार के दो  परीक्षा होती हैI परीक्षा पास करने के बाद किसी विशेष पोस्ट के लिए स्किल टेस्ट किया जाता हैIएप्टिट्यूड टेस्ट, डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन, मेडिकल फिटनेस टेस्ट के पास करने के बाद उम्मीदवारों को इस पद के लिए चुना जाता हैI  परीक्षा के अंतर्गत जनरल इंटेलिजेंस एंड रीजनिंग जनरल अवेयरनेस,जनरल साइंस तथा अर्थमैटिक कहां से थे से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैंI परीक्षा के समयावधि 90 मिनट की और प्रश्नों की संख्या 100 होती हैIजिनमें जनरल अवेयरनेस  से 20 प्रश्न, अर्थमैटिक एबिलिटी से 25 प्रश्न ,रिजनिंग एंड जनरल इंटेलिजेंस से 25 तथा जनरल साइंस 30 प्रश्न पूछे जाते हैंI कुल 100 अंको प्रश्न में से प्रत्येक गलत उत्तर 0.33 Marks काटे जाते हैंI वहीं द्वितीय चरण(CBT-2) के परीक्षा की बात की जाए तो कुल 120 प्रश्न 120 Marks के पूछे जाते हैंI जनरल अवेयरनेस,साइंस एवं करंट अफेयर से 50 प्रश्न मैथमेटिक्स से 35 प्रश्न जनरल इंटेलिजेंस एंड रीजनिंग से 35  प्रश्न पूछा जाता हैI 

                           गुड गार्ड्स के परीक्षा का सिलेबस की बात करें तो प्रत्येक विषय में दसवीं तथा बारहवीं कक्षा के आधार पर प्रश्न पूछे जाते हैंIजो निम्नलिखित है –

  • MATHEMATICS –
  • Percentages
  • Ratio and Proportion
  • Averages
  • Time and Distance
  • Ratio and Time
  • Time and Work
  • Number Systems
  • Computation of Whole Numbers.
  • Interest
  • Profit and Loss
  • Discount
  • The relationship between Numbers
  • Decimals and Fractions
  • Fundamental arithmetical operations
  • Use of Tables and Graphs

 

  • GENERAL INTELLIGENCE & REASONING-
  • Similarities and Differences
  • Number Series
  • Arithmetical Computation
  • Analytical Functions
  • Analysis
  • Space Visualization
  • Relationship Concepts
  • Non-Verbal Series
  • Decision Making
  • Problem Solving
  • Figure Classification
  • Visual Memory
  • Analogy 
  • Coding & Dicoding 
  • General Awarness & current Affairs –

 

  • History
  • Indian Constitution
  • General Politics
  • Current events
  • Economic Scene
  • Culture
  • Geography
  • Awards and Honors
  • Books
  • Sports and Games
  • Sciennce & Technology 
  • General Science-
  • Physics 
  • Chemistry 
  • Biology 
  • वेतन(Salary)-

 भारतीय रेलवे द्वारा गुड्स गार्ड से पद को अच्छा वेतन प्राप्त होता हैI शुरुआती दौर में सरकार द्वारा निर्धारित वेतनमान 29,200 से ₹30000 तक के बीच होता है परंतु गुड्स गार्ड्स को अनेक प्रकार के जैसे -रनिंग ट्रिप,घाट,वेटिंग ड्यूटी, विश्रामअवस्था(Breach of Rest),Accident Allowance (भते) मिलने के कारण प्रतिमाह वेतन कुल मिलाकर 50,000 रूपये से अधिक प्राप्त होता हैI अनुभव के  साथ-साथ वेतन में वृद्धि होती है तथा पदों में भी समयांतराल पर प्रमोशन होता रहता  हैI